Sunday, February 25, 2018

सोशल : तो क्या दवाओं ने ली श्री देवी की जान ?





सोशल मीडिया में श्रीदेवी की मौत के बाद से ही ये चर्चा का विषय है की आखिर इतनी फिट दिखने वाली श्री को अचानक ऐसा क्या हुआ की उनकी जान चली गई. दुबई की अखबार ने लिखा है कि जब उन्हें हार्ट अटैक आया तो वो बाथरूम में गिर पड़ीं. इसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया लेकिन बचाया नहीं जा सका. दुबई के खलीज टाइम्स को ये जानकारी देते हुए संजय कपूर ने कहा कि वो पूरी तरह से सदमे में हैं. उन्होंने आगे कहा कि श्रीदेवी को हार्ट से जुड़ी कोई बीमारी नहीं थी.  
अब जब श्रीदेवी को कोई बीमारी नहीं थी तो उन्हे अचानक क्या हो गया. जाहिर है अटकलों का बाजार गरम है. तो ऐसे में आम धारनाओ के बीत जो बात है उसका मुल्याकन कर ये समझा जा सकता है कि क्या किसी तरह की दवाओं ने श्रीदेवी को मौत के मुंह में धकेल दिया. जाहिर है हर कलाकार चकाचौंध की दुनिया में खुद को सबसे ऊपर बनाए रखने के लिए कई तरह के प्रयोग और संयमित जीवन जीने की कोशिश करते है. जबसे फेसबुक,ट्विटर और इंस्टाग्राम जैसी चीजें आई है तबसे सबके अंदर एक खास तरह की चाह पैदा हुई है और वो है खुद को सबसे अच्छा दिखा कर चर्चा के केंद्र में आने के लिए.
मौत को दावत देने का खेल भी यहीं से शुरु होता है. आम तौर पर नागरिक तो रोजमर्रा की जिंदगी में फंसा रह जाता है लेकिन जो कलाकार है वो इसी चकाचौंध में रहते है और खुद को फीट बनाए रखने के लिए योगा और एक्सरसाइज करते है. लेकिन कई कलाकार या ज्यादातार कलाकार कई तरह की दवाइयों का सहारा लेते है. बढ़ती उम्र के साथ खुद को सुंदर बनाए रखने की चुनौती तो हर किसी के सामने होती है और बढती उम्र आपके अंदर कमजोरियां पैदा करता है औऱ आपको दवाओं की तरफ रुझान करने के लिए मजबुर करता है. श्रीदेवी भी 54 साल की हो चुकी थी लेकिन वो देखने में आज भी बिल्कुल चांदनी की तरह थी ऐसे में जाहिर है वो भी कई दवाओ और बोटेक्स जैसी चीजों का सहारा लेती होंगी ! बढ़ती उम्र के साथ वजन भी बढता है ऐसे में वजन घटाने के लिए कई लोग एक्सरसाइज या योग का सहारा लेते हैं तो वहीं कुछ लोग वजन घटाने के लिए दवाइयों का इस्तेमाल करते हैं। डॉक्टरों का कहना है कि इन दवाइयों में सिबट्रामिन होता है, जो हमारे शरीर के लिए बहुत हानिकारक होता है। वजन घटने के लिए इस्तेमाल की गई दवाइयों से हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है। ऐसी दवाइयों के इस्तेमाल का सबसे पहला साइड इफेक्ट हमारे पेट में होता है। इन दवाइयों के कारण कब्ज, एसिडिटी और दस्त जैसी बीमारियां हो सकती हैं। इन दवाइयों के खाने से शरीर में विटामिन की कमी हो जाती है, जिसके कारण कई बार मल्टीविटामिन गोलियों को खाने की जरूरत पड़ती है। इन गोलियों के अधिकांश तत्व विटामिन को अवशोषित करते हैं , जिससे शरीर की क्षमता कम होती है। वजन घटाने वाली दवाएं खाने से दिल का दौरा पड़ने का खतरा बना रहता है। इन दवाइयों के खाने से शारीरिक असहजता हो जाती है. वजन कम करने वाली गोलियों में सिबट्रामिन नाम का एक तत्व पाया जाता है, जो सिम्पेथेटिक नर्वस सिस्टम को ट्रिगर करता है। इस कारण से भूख का लगना कम हो जाता है। इसके साथ शरीर को कई ओर भी साइड इफेक्ट्स का सामना करना पड़ता है। इनकी वजह से हाइपरएक्टीविटी, हॉट फ्लैश और बल्डप्रेशर जैसी चीजों का शिकार हो जाते है. ऐसे में डॉक्टरों का कहना है कि वजन घटाने के लिए दवाइयों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। अगर आप अपना वजन घटाना चाहते हैं तो एक्सरसाइज या योग का सहारा ले सकते हैं। एक्सरसाइज करने से आपके शरीर का वजन भी घट जाएगा और कोई साइड एफेक्ट भी नहीं होगा।  लेकिन श्री देवी के मामले में भी अनुमान यही लगाया जा रहा है ऐसे में क्या सच में श्रीदेवी को दवाओं ने मौत की नींद सुला दी ? इसका जवाब तो श्रीदेवी और बॉनी कपूर ही दे सकते है. श्री देवी तो हमारे बीच रही नहीं औऱ बॉनी कपूर से कोई ये सवाल पूछने की हिम्मत अभी जुटा नहीं पाएगा. तो सच के लिए हम सबको इंतजार करना होगा.